भारत के राष्‍ट्रपतियों की सूची

भारत में राष्ट्रपति (President) को प्रथम नागरिक माना जाता है। यह देश का सर्वोच्च संवैधानिक पद है। राष्ट्रपति का चुनाव संसद और राज्य के विधानमंडल के चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा किया जाता हैं। निर्वाचक मंडल भारत के राष्ट्रपति का चुनाव करता है। अनुच्‍छेद 56 के अनुसार, राष्ट्रपति का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है। राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बिना भारत में कोई भी कानून लागू नहीं हो सकता है। भारत का संविधान 26 जनवरी, 1950 को अपनाया गया, और डॉ. राजेंद्र प्रसाद भारत के पहले संवैधानिक राष्ट्रपति चुने गए। आइए जानते हैं कि अब तक भारत में कौन-कौन राष्ट्रपति पद पर रह चुके है और उन्होंने कितने दिन शासन संभाला।

डॉ. राजेंद्र प्रसाद

  • कार्यकाल: 26 जनवरी 1950 से 13 मई 1962 (12 साल, 110 दिन)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • भारत के एकमात्र राष्ट्रपति थे, जिन्होंने दो कार्यकालों तक राष्ट्रपति पद पर कार्य किया। उनको 1962 में भारत रत्न दिया गया था।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

  • कार्यकाल: 13 मई 1962 से 13 मई 1967 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • राधाकृष्णन को 1931 में शूरवीर की उपाधि दी गई और 1954 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

डॉ. जाकिर हुसैन

  • कार्यकाल: 13 मई 1967 से 3 मई 1969 (2 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • डॉ. जाकिर हुसैन भारत के पहले मुस्लिम राष्ट्रपति बनें और इनकी मृत्यु पद पर रहते ही हुई थी। वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर और जामिया मिलिया इस्लामिया दिल्ली विश्वविद्यालय के सह-संस्थापक थे। 1963 में हुसैन को भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

वी वी गिरि (वराहगिरि वेंकट गिरि) (कार्यवाहक राष्ट्रपति)

  • कार्यकाल: 3 मई 1969 से 20 जुलाई 1969 (78 दिन)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • डॉ. जाकिर हुसैन की मृत्‍यु के बाद तात्कालिक उपराष्ट्रपति वी वी गीरि को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया था। आगामी राष्ट्रपति चुनावों में उम्मीदवार के रूप में विचार करने के लिए इन्‍होंने इस्तीफा दे दिया।

मोहम्मद हिदायतुल्लाह (कार्यवाहक राष्ट्रपति)

  • कार्यकाल: 20 जुलाई 1969 से 24 अगस्त 1969 (35 दिन)
  • वी वी गिरी के कार्यवाहक राष्ट्रपति के पद से इस्तीफा देने पर सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद हिदायतुल्लाह ने 20 जुलाई 1969 भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभाला। मोहम्मद हिदायतुल्लाह को 2002 में भारत सरकार द्वारा कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इनके नेतृत्व में राष्ट्रीय मुस्लिम विश्वविद्यालय जामिया मिलिया इस्लामिया स्थापित किया गया था।

वी वी गिरि (वराहगिरि वेंकट गिरि)

  • कार्यकाल: 24 अगस्त 1969 से 24 अगस्त 1974 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • गिरि ने 1947 और 1951 के बीच सिलोन (बाद में श्रीलंका) की भारत के पहले उच्चायुक्त के रूप में सेवा की। 1975 में गिरि को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

फखरुद्दीन अली अहमद

  • कार्यकाल: 24 अगस्त 1974 से 11 फरवरी 1977 (2 साल, 172 दिन)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • दूसरे राष्ट्रपति जिनकी मृत्यु राष्ट्रपति के पद पर ही हो गई थी।

बसप्पा दानप्पा जट्टी (कार्यवाहक राष्ट्रपति)

  • कार्यकाल: 11 फरवरी 1977 से 25 जुलाई 1977 (164 दिन)
  • फखरुद्दीन अली अहमद की मृत्‍यु के बाद मैसूर राज्य के मुख्यमंत्री बसप्पा दानप्पा जट्टी को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया था।

नीलम संजीव रेड्डी

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 1977 से 25 जुलाई 1982 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: जनता पार्टी
  • रेड्डी आंध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री थे और उन्होंने लोकसभा के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया था। 1975 में, वह जनता पार्टी में शामिल हुए और 1977 में भारत के राष्ट्रपति चुने गए।

ज्ञानी जैल सिंह

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 1982 से 25 जुलाई 1987 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • राष्ट्रपति बनने से पहले वे पंजाब के मुख्यमंत्री और केंद्र में भी मंत्री रहे थे। भारतीय डाक घर से संबंधी विधेयक पर उन्होंने पॉकेट वीटो का भी प्रयोग किया था। प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या और 1984 के सिख विरोधी दंगे भी इनके कार्यकाल के दौरान ही हुए थे।

रामास्वामी वेंकटरमन

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 1987 से 25 जुलाई 1992 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • रामास्वामी वेंकटरमन एक स्वतंत्रता सेनानी थे जो बाद में कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे और चार बार लोकसभा के सदस्य चुने गए। वित्तमंत्री और रक्षा मंत्री के रूप में सेवा करने के बाद, उन्हें उप-राष्ट्रपति (1984-1987) के रूप में चुना गया। बाद में रामास्वामी वेंकटरमन को भारत के राष्ट्रपति के रूप में चुना गया था।

डॉ. शंकर दयाल शर्मा

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 1992 से 25 जुलाई 1997 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • 1952 से 1956 तक डॉ. शंकर दयाल शर्मा भोपाल के मुख्यमंत्री रहे। 1956 से 1967 तक कैबिनेट मिनिस्टर भी रहे।

के आर (कोच्चेरील रमन) नारायणन

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 1997 से 25 जुलाई 2002 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • के आर नारायणन भारत के प्रथम दलित राष्ट्रपति तथा प्रथम मलयाली व्यक्ति थे। राज्य की विधानसभा को संबोधित करने वाले पहले राष्ट्रपति थे। नारायणन एक आईएफएस (भारतीय विदेश सेवा) अधिकारी के रूप में अमेरिका, जापान, ब्रिटेन, चीन और तुर्की सहित कई देशों में भारत के राजदूत रहे।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: स्वतंत्र
  • डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम भारत के मिसाईल मैन नाम से भी जाने जाते हैं। वे पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने राष्ट्रपति पद संभाला और भारत के पहले राष्ट्रपति जो सर्वाधिक मतों से जीते थे। इनके निर्देशन में रोहिणी-1 उपग्रह, अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों का सफल प्रक्षेपण किया गया था। 1997 में इन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

प्रतिभा सिंह पाटिल

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 2007 से 25 जुलाई 2012 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • प्रतिभा पाटिल भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति थीं। 2004 से 2007 के बीच राजस्थान की राज्यपाल भी रही। 1962 से 85 तक वह पांच बार महाराष्ट्र की विधानसभा की सदस्य रही और 1991 में लोकसभा के लिए अमरावती से चुनी गई थी। ये सुखोई विमान उड़ाने वाली पहली महिला राष्ट्रपति भी हैं।

प्रणब मुखर्जी

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017 (5 साल)
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से पहले केंद्र सरकार में वित्त मंत्री थे। उनको 1997 में सर्वश्रेष्ठ सांसद का पुरस्कार एवं 2008 में भारत का दूसरा सबसे बड़ा असैनिक सम्मान पद्म विभूषण प्रदान किया गया था।

राम नाथ कोविंद

  • कार्यकाल: 25 जुलाई 2017 से अब तक
  • राजनीतिक संबद्धता: भारतीय जनता पार्टी
  • 1994 से 2006 तक राम नाथ कोविंद राज्यसभा में संसद सदस्य रहे। 2015 से 2017 तक बिहार के राज्यपाल थे। भारत के दूसरे दलित राष्ट्रपति बने। कोविंद 16 साल तक वकील रहे हैं।

Leave a Reply