28 August 2020 : करंट अफेयर्स (Current Affairs 2020)

दुनिया के सबसे अमीर शख्स:200 अरब डॉलर की संपत्ति वाले पहले बिजनेसमैन बने जेफ बेजोस

  • अमेजन के फाउंडर व सीईओ जेफ बेजोस (Jeff Bezos) की संपत्ति 200 अरब डॉलर पार पहुंच गई है। इसी के साथ बेजोस 200 अरब डॉलर संपत्ति वाले दुनिया के पहले शख्स बन गए।
  • बेजोस की संपत्ति में इस साल 87.1 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।
  • टेस्ला इंक के शेयरों में उछाल आने से कंपनी के फाउंडर एलन मस्क की संपत्ति 101 अरब डॉलर हो गई है।
  • एलन मस्क की संपत्ति 73.6 अरब डॉलर बढ़ी है।
  • फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग अगस्त माह की शुरुआत में 100 अरब डॉलर के क्लब में शामिल हुए थे। 26 अगस्‍त को उनकी दौलत में 8.5 अरब डॉलर का इजाफा हुआ।
  • इस साल दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 809 अरब डॉलर बढ़ी है।
  • मुकेश अंबानी इस माह दुनिया के टॉप 5 अमीर लोगों में शामिल होने वाले पहले एशियाई बने हैं।
  • इस साल उनकी सपंत्ति 22.5 अरब डॉलर (लगभग 1.67 लाख करोड़ रु) बढ़ी है।

रक्षा मंत्री ने NCC कैडेट्स के लिए ‘DGNCC प्रशिक्षण’ मोबाइल एप लॉन्च की

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नेशनल कैडेट कॉर्प्‍स (National Cadet Corps-NCC) के प्रशिक्षण के लिए ‘DGNCC प्रशिक्षण’ मोबाइल एप लॉन्च किया है।
  • इस एप का मकसद कैडेट्स को ऑनलाइन प्रशिक्षण देना है।
  • इस एप में कैडेट्स को ट्रेनिंग के वीडियोज, ट्रेनिंग मैटेरियल और सिलेबस की पूरी जानकारी मिलेगी।
  • इसके अलावा कैडेट्स सवाल भी पूछ सकेंगे। एप में पूछे गए सवालों के जवाब योग्य प्रशिक्षकों का एक पैनल देगा।
  • DGNCC एप को गूगल प्ले-स्टोर से फ्री में उनलोड किया जा सकता है।

नीति आयोग ने जारी किया निर्यात तत्परता सूचकांक 2020

  • नीति आयोग ने इंस्टीट्यूट ऑफ कॉम्पिटेटिवनेस (Institute of Competitiveness) के साथ संयुक्त रूप से निर्यात तत्परता सूचकांक (Export Preparedness Index-EPI) 2020 जारी किया है।
  • राज्यों की निर्यात तत्परता का मूल्यांकन करने के उद्देश्य से तैयार किए निर्यात तत्परता सूचकांक (EPI) 2020 में गुजरात पहले स्थान पर है।
  • सूचकांक में गुजरात के बाद दूसरा और तीसरा स्थान क्रमशः महाराष्ट्र और तमिलनाडु को मिला है।
  • शीर्ष 10 में स्थान प्राप्त करने वाले अन्य राज्यों में राजस्थान, ओडिशा, तेलंगाना, हरियाणा, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और केरल शामिल हैं।
  • समग्र तौर पर निर्यात तत्परता के मामले में भारत के तटीय राज्यों का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा और इस सूचकांक में शीर्ष 10 राज्यों में से 6 तटीय राज्य हैं।
  • पूरी तरह से भू-सीमा से घिरे हुए राज्यों में राजस्थान ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है, इसके बाद तेलंगाना और हरियाणा का स्थान है।
  • हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड को पहला स्थान, जबकि त्रिपुरा और हिमाचल प्रदेश क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्तमान में, भारत के 70 प्रतिशत निर्यात में पांच राज्यों- महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु और तेलंगाना का वर्चस्व मौजूद है।
  • भारतीय राज्यों की निर्यात तत्परता का मूल्यांकन करने के लिए निर्यात तत्परता सूचकांक के निर्माण का विचार सर्वप्रथम 2019 में नीति आयोग के समक्ष आया था।
  • प्रतिस्पर्द्धी संघवाद की भावना को मद्देनज़र रखते हुए नीति आयोग का निर्यात तत्परता सूचकांक (EPI) उन सभी कारकों का आकलन करता है जो किसी राज्य अथवा केंद्र शासित प्रदेश के निर्यात प्रदर्शन को निर्धारित करने में अनिवार्य भूमिका अदा करते हैं।
  • निर्यात तत्परता सूचकांक (EPI) की संरचना में कुल 4 स्तंभ- (1) नीति (2) व्यवसाय परितंत्र (3) निर्यात परितंत्र (4) निर्यात निष्पादन शामिल हैं, इसके अलावा इन सभी स्तंभों में कुछ उप-स्तंभ भी शामिल हैं।

ई-पीपीओ’ का ‘डिजी-लॉकर’ के साथ एकीकरण

  • केंद्र सरकार ने ‘इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश’ (Electronic Pension Payment Order) या ‘ई-पीपीओ’ ( e-PPO) को ‘डिजी-लॉकर’ (Digi- Locker) के साथ एकीकृत करने का निर्णय लिया है।
  • पेंशन भुगतान आदेश की मूल प्रति के खो जाने के बाद पेंशनधारकों को कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को देखते हुए पेंशन और पेंशनर्स कल्याण विभाग द्वारा ‘ई-पीपीओ’ ( e-PPO) को ‘डिजी-लॉकर’ (Digi- Locker) के साथ एकीकृत करने का निर्णय लिया गया है।
  • इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश को ‘सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली’ (Public Finance Management System- PFMS) द्वारा जारी किया जाता है।
  • इस सुविधा को वित्तीय वर्ष 2021-22 तक शुरू करने का लक्ष्य रखा गया था, परंतु COVID-19 महामारी के कारण उत्पन्न हुई चुनौतियों को देखते हुए इसे पहले ही पूरा कर लिया गया।
  • ‘भविष्य’ (Bhavishya) नामक सॉफ्टवेयर सेवानिवृत्त व्यक्तियों को अपने डिजी-लॉकर खाते को अपने ‘भविष्य’ खाते जोड़ने का विकल्प उपलब्ध कराएगा।
  • जिसके माध्यम से वे निर्बाधित तरीके से अपना ई-पीपीओ प्राप्त कर सकेंगे।
  • यह विकल्प सेवानिवृत्त होने वाले व्यक्तियों को सेवानिवृत्त संबंधी फार्म भरने के समय एवं फार्म जमा करने के बाद भी उपलब्ध होगा।

Leave a Reply