24 December 2020 : करंट अफेयर्स (Current Affairs 2020)

सतह से हवा में मार करने वाली मध्यम दूरी की मिसाइल (MRSAM) का परीक्षण सफल

  • पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत ने 23 दिसंबर 2020 को मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल (Medium-Range Surface-to-Air Missile-MRSAM) का परीक्षण किया।
  • सेना के लिए विकसित इस मिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर में इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज से रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (Defence Research and Development Organisation-DRDO) ने परीक्षण किया, जो सफल रहा।
  • यह मिसाइल 70 किलोमीटर के दायरे में आने वाली किसी भी मिसाइल, लड़ाकू विमान, हेलीकाप्टर, ड्रोन, निगरानी विमानों को मार गिराने में पूरी तरह से सक्षम है।
  • यह हवा में एक साथ आने वाले कई टारगेट या दुश्मनों पर 360 डिग्री घूम कर एक साथ हमला कर सकती है।
  • इसे इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्री के साथ डीआरडीओ ने संयुक्त रूप से विकसित किया है।
  • इस टेस्ट के लिए बालासोर जिला प्रशासन ने आईटीआर के 2.5 किमी के दायरे में लगभग 8,100 लोगों को गांवों से हटा दिया था।

महीने में 50 लाख रुपए से अधिक का कारोबार है तो 1% जीएसटी नकद भरना होगा

  • महीने में 50 लाख रुपए से अधिक का कारोबार है, तो अब 1% जीएसटी नकद भरना होगा। वित्त मंत्रालय ने यह कदम जाली बिल (इन्वॉयस) के जरिए कर चोरी रोकने के लिए उठाया है।
  • केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (Central Board of Indirect Taxes and Customs-CBIC) ने जीएसटी नियमों में नियम 86-बी पेश किया है। यह नियम इनपुट कर क्रेडिट (Input Tax Credit-ITC) का अधिकतम 99 प्रतिशत तक ही इस्तेमाल जीएसटी देनदारी निपटाने की अनुमति देता है।
  • कारोबार की सीमा की गणना करते समय जीएसटी छूट वाले उत्पादों या शून्य दरों वाली आपूर्ति को इसमें शामिल नहीं किया जाएगा।
  • कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर या पार्टनर ने 1 लाख रुपए से ज्यादा की धनराशि आयकर के रूप में दी हो। या जीएसटी में रजिस्टर व्यक्ति को इस्तेमाल न किए गए इनपुट टैक्स क्रेडिट के कारण गुजरे वित्त वर्ष में 1 लाख रुपए से ज्यादा रिफंड अमाउंट मिला हो। तो यह नियम लागू नहीं होगा।

गड़बड़ी पाए जाने पर बिना नोटिस सस्पेंड होगा जीएसटी रजिस्ट्रेशन

  • जीएसटी रिटर्न में किसी प्रकार की गड़बड़ी मिलने पर जीएसटी रजिस्ट्रेशन अब बिना नोटिस दिए सस्पेंड किया जा सकेगा।
  • साथ ही अब जीएसटी रजिस्ट्रेशन में लगने वाले समय को 3 दिन से बढ़ाकर 7 दिन कर दिया गया है।
  • वहीं, ऐसे मामलों में जहां आधार ऑथैंटिकेशन नहीं हुआ है, वहां समय सीमा को 7 दिन से बढ़ाकर 30 दिन कर दिया गया है।
  • अब बिना सुनवाई का उचित अवसर दिए जीएसटी नंबर सस्पेंड किया जा सकेगा। इसके बाद आयकरदाताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा कि रजिस्ट्रेशन निरस्त क्यों न कर दिया जाए? इसका जवाब 30 दिन में देना होगा।
  • साथ ही करदाता अब जीएसटीआर 2बी में जितना इनपुट टैक्स क्रेडिट दिखाई दे रहा उसका अधिकतम 5% ही क्रेडिट ले सकेंगे पहले यह सीमा 10% थी।
  • यदि करदाता लगातार दो माह तक जीएसटीआर 3बी फाइल नहीं करेगा तो वह जीएसटीआर 1 भी नहीं फाइल कर कर सकेगा।
  • ई-वे बिल की वैधता में कमी की गई है। अब 200 किलो मीटर की दूरी के लिए ई-वे बिल की एक दिन की वैधता रहेगी। पहले 100 किमी की दूरी के लिए भी ई-वे बिल एक दिन वैलिड रहता था।

पीएमएस-एससी स्कीम के नियमों में बदलावों को मंजूरी: एससी छात्रों के सीधे खाते में जाएगी पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरिशप

  • केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति (एससी) के छात्रों भरपूर मौके देने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। केंद्र की आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने 23 दिसंबर 2020 को पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप (पीएमएस-एससी) स्कीम के नियमों में बदलावों को मंजूरी दे दी है।
  • इस बदलाव से अगले 5 साल में केंद्र सरकार 4 करोड़ से ज्यादा एससी छात्रों को स्कॉलरशिप देगी, जिससे वे अपनी उच्च शिक्षा पूरी कर सकें। छात्रवृत्ति के पैसे सीधा छात्रों के खाते में दिए जाएंगे।
  • सीधे खाते में पैसा भेजने के लिए आधार नंबर से जुड़ा होगा। जैसे ही यह तय होगा कि राज्यों ने अपने हिस्से की राशि जमा कर दी है, केंद्र भी अपनी राशि जारी कर देगा।
  • सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने बताया कि इस योजना में 60% हिस्सा केंद्र सरकार और 40% हिस्सा राज्य सरकार देगी।
  • इस योजना में 59,048 रुपए खर्च होने का अनुमान है। इसमें से केंद्र सरकार 35,534 करोड़ रुपए केंद्र और बाकी राज्य सरकारें उपलब्ध कराएंगी।
  • नए नियम से स्कॉलरशिप की शुरुआत अगले सत्र 2021-22 से हो जाएगी।

अमेरिका के न्यूजर्सी स्टेट ने धर्मेंद्र को दिया लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड, यह सम्मान पाने वाले पहले भारतीय बने

  • दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र को अमेरिका के न्यूजर्सी में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है।
  • न्यूजर्सी स्टेट की जनरल असेंबली और सीनेट ने साझा प्रस्ताव पास कर 85 साल के धर्मेंद्र को यह अवॉर्ड दिया।
  • अवॉर्ड सेरेमनी अमेरिका की पब्लिकेशन कंपनी बॉलीवुड इनसाइडर ने ऑनलाइन होस्ट की थी।
  • आयोजकों के मुताबिक, यह पहली बार है जब अमेरिकी राज्य ने किसी भारतीय एक्टर को इस तरह का सम्मान दिया है।
  • सुपरस्टार को सम्मान देने का प्रस्ताव सीनेटर माइकल डोहर्टी ने पेश किया था। उनके मुताबिक, दोनों सदनों के सभी 120 सदस्यों ने यह प्रस्ताव निर्विरोध पारित किया।
  • धर्मेंद्र ने 1960 में रिलीज हुई फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था।
  • भारत सरकार सिनेमा में उनके अमूल्य योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित कर चुकी है।
  • धर्मेंद्र ने 1990 में आई अपनी फिल्म ‘घायल’ के लिए बतौर प्रोड्यूसर नेशनल अवॉर्ड (बेस्ट पॉपुलर फिल्म प्रोवाइडिंग होलसम एंटरटेनमेंट) जीता था।
  • फिल्मफेयर ने उन्हें 1997 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड जरूर दिया था।

सिडनी की रोशनी निहारते पेंगुइन की तस्वीर को ओशियन अवार्ड

  • ऑस्ट्रेलिया में एक-दूसरे को सांत्वना देते दो ‘पेंगुइन’ की तस्वीर को ओशियनोग्राफिक मैग्जीन का ओशियन फोटोग्राफ अवॉर्ड मिला है।
  • इस तस्वीर को जर्मन फोटोग्राफर टोबियास बॉमगार्टनर ने मेलबर्न में खींचा था।
  • टोबियास ने बताया था कि यह एक-दूसरे को सांत्वना देते युवा नर और बुजुर्ग मादा की तस्वीर है जिनके पार्टनर्स की हाल ही में मौत हुई है।
  • इससे पहले यह तस्वीर कम्युनिटी चॉइस अवार्ड के लिए भी चुनी गई थी।

राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day)

  • समाज के विकास में किसानों के योगदान को रेखांकित करने के लिए भारत में प्रतिवर्ष 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) मनाया जाता है।
  • भारत के ग्रामीण क्षेत्रों की अधिकांश आबादी अपनी आजीविका के लिए प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष तौर पर कृषि पर निर्भर है।
  • ऐसे में राष्ट्रीय किसान दिवस भारत के आम नागरिकों को किसानों की समस्याओं को जानने और उन पर वार्ता करने का अवसर प्रदान करता है।
  • यह दिवस भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के उपलक्ष्‍य में आयोजित किया जाता है।
  • चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 को उत्तर प्रदेश के हापुड़ ज़िले में हुआ था। प्रधानमंत्री के तौर पर चरण सिंह का कार्यकाल अल्प अवधि का रहा।
  • वे दो बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तथा केंद्र सरकार में भी कई मंत्री पदों पर कार्य किया, साथ ही महत्त्वपूर्ण पदों पर रहते हुए उन्होंने किसानों के कल्याण के लिये कई योजनाएं लागू कीं।
  • उन्हें उत्तर प्रदेश ज़मींदारी उन्मूलन अधिनियम का प्रधान वास्तुकार माना जाता है। चरण सिंह ने ज़मींदारी उन्मूलन, भूमि सुधार और किसानों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने से संबंधित कई पुस्तकें भी लिखीं।
  • किसानों के कल्याण में चौधरी चरण सिंह के योगदान को देखते हुए सरकार ने 2001 में इस दिवस की शुरुआत की थी।

Leave a Reply