17-18 January 2021 : करंट अफेयर्स (Current Affairs 2021)

देश के 8 हिस्सों से ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ (Statue of Unity) के लिए चली ट्रेनें, प्रधानमंत्री ने दिखाई झंडी

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 जनवरी 2021 को ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ (Statue of Unity) तक जाने वाली 8 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई।
  • इस कदम का प्राथमिक उद्देश्य आदिवासी बेल्ट में पर्यटन को आकर्षित करना है।
  • अहमदाबाद, मुंबई, हजरत निजामुद्दीन, रीवा (मध्य प्रदेश), चेन्नई, वाराणसी से केवडिया के लिए 6 एक्सप्रेस ट्रेनें हैं। जबकि प्रतापनगर (वडोदरा) और केवडिया के बीच 2 मेमू (लोकल) ट्रेनें शुरू की गई हैं।
  • इन आठ ट्रेनों में से अहमदाबाद-केवड़िया (Ahmedabad Kevadia) के बीच चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस में विस्टाडोम कोच (Vistadome Coach) का प्रयोग किया गया है।
  • ‘विस्टाडोम कोच’ भारतीय रेलवे द्वारा निर्मित एक प्रकार के अत्याधुनिक कोच हैं, जिन्हें मुख्य तौर पर यात्रा के दौरान यात्रियों के लिए आराम के साथ-साथ उन्हें आसपास के क्षेत्रों का अनुभव प्रदान करने के लिए बनाया गया है।
  • इस कोच का निर्माण तमिलनाडु स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (Integral Coach Factory) में किया गया है।
  • भारतीय रेलवे (Indian Railway) द्वारा निर्मित इन नए और अत्याधुनिक कोचों में हवाई जहाज़ों के समान फोल्डेबल स्नैक टेबल हैं।
  • साथ ही इनमें ब्रेल (Braille) भाषा में सीट नंबर, डिजिटल डिस्प्ले स्क्रीन तथा स्पीकर के साथ इंटीग्रेटेड इन-बिल्ट एंटरटेनमेंट सिस्टम भी शामिल है।
  • विस्टाडोम कोच की मुख्य विशेषता यह है कि इसमें यात्रा के दौरान आसपास के माहौल का लुत्फ उठाने के लिये बड़ी खिड़की के साथ एक ऑब्ज़रवेशन लाउंज बनाया गया है।
  • साथ ही इस कोच में CCTV सर्विलांस, फायर अलार्म सिस्टम और एक LED बोर्ड भी लगाया गया है।
‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ (Statue of Unity)
  • ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ (Statue of Unity) गुजरात के नर्मदा जिले के केवड़िया में साधु आईलैंड में स्थित है।
  • गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार पटेल के जन्मदिवस पर इस विशालकाय मूर्ति के निर्माण का शिलान्यास किया था।
  • यह विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति है, जिसकी लंबाई 182 मीटर (597 फीट) है।

भारत में कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) अभियान शुरू

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने 16 जनवरी 2021 को कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ विश्‍व के सबसे बड़े टीकाकरण (Corona Vaccination) अभियान की शुरुआत की।
  • दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) में 34 वर्षीय सफाईकर्मी मनीष कुमार (Manish Kumar) को देश का पहला कोरोना टीका (Covaxin) लगाया गया।
  • राजस्थान में जयपुर के सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य सुधीर भंडारी को सबसे पहले टीके की खुराक दी गई।
  • हर सेंटर पर एक दिन में औसतन 100 लोगों का वैक्‍सीन लगाई जाएगी।
  • पहले दिन 1,91,181 लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया गया।

भारत का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय (Labour Movement Museum) केरल (Kerala) में बनेगा

  • विश्व श्रमिक आंदोलन के इतिहास को दर्शाने वाला देश का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय (Labour Movement Museum) केरल के अलाप्पुझा (Alappuzha) में शुरू किया जाएगा।
  • संग्रहालय में बड़ी संख्या में वे दस्तावेज एवं चीजें प्रदर्शित होंगी जिसने महाद्वीपों में श्रमिक आंदोलनों को आकार दिया और देश विशेष रूप से केरल में श्रमिक आंदोलन के उद्गम स्थल अलाप्पुझा को प्रभावित किया।
  • पोर्ट व कॉयर संग्रहालयों के पास में ‘लेबर मूवमेंट म्युजियम’ इस वर्ग के संघर्ष और श्रमिकों के संघर्ष को प्रदर्शित करने वाला ऐसा पहला प्रयास होगा।
  • यह पर्यटकों को आकर्षित करने की एक व्यापक परियोजना का भी हिस्सा होगा।
  • संग्रहालय को एलडीएफ सरकार के दूसरे 100-दिवसीय कार्यक्रम के हिस्से के तौर पर शुरू किया जाएगा।
  • पूर्व में बॉम्बे कंपनी द्वारा संचालित ‘न्यू मॉडल कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड’ को ‘लेबर मूवमेंट म्यूजियम’ में तब्दील किया गया है।
  • यह चित्रों, दस्तावेजों और अन्य प्रदर्शनों के माध्यम से विश्व श्रमिक आंदोलन और केरल के श्रमिक आंदोलन के इतिहास को चित्रित करेगा।

राज्यसभा में 5वीं सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा बनी संस्कृत (Sanskrit)

  • बीते 3 सालों में राज्यसभा में क्षेत्रीय भाषाएं खूब प्रयोग की जा रही हैं। इनमें संस्कृत (Sanskrit) सबसे आगे हैं।
  • राज्यसभा में संस्कृत 5वीं सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा बनी है। इसके पहले क्रमश: हिंदी, तेलुगु, उर्दू और तमिल हैं।
  • राज्यसभा सचिवालय ने यह जानकारी दी है। इसके मुताबिक, 2018 से 2020 के बीच कार्यवाही के दौरान डोगरी, कश्मीरी, कोंकणी और संथाली का उपयोग भी 1952 के बाद सदन में पहली बार किया गया।
  • अगस्त-2017 में राज्यसभा का सभापति बनने पर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने सदन के सदस्यों को अपनी मातृभाषा में अपने विचार रखने का प्रस्ताव दिया था। इसके पीछे सोच ये थी कि क्षेत्रीय भाषा में सदस्य अपने विचारों को आसानी से रख सकें।
  • इसके बाद उच्च सदन के सदस्यों ने अपनी पसंदीदा भाषा में विचार रखने शुरू किए। सदस्यों ने 2019-20 में 12 बार अपने वक्तव्य संस्कृत में रखे।
  • जबकि 2018 से 2020 के बीच 6 अन्य भाषाओं- असमिया, बोडो, गुजराती, मैथिली, मणिपुरी और नेपाली भाषा का उपयोग भी लंबे समय बाद सदन में किया गया।
  • सचिवालय की ओर से बताया गया कि सदन की कार्यवाही के दौरान हिंदी के अलावा बोली जाने वाली 21 अन्य भाषाओं का प्रतिशत 14 वर्षों में 512 तक बढ़ा है।
  • सदन की कार्यवाही के दौरान 2013 से 2017 तक 329 बैठकों में और 2018 से 2020 के दौरान 163 बैठकों में क्षेत्रीय भाषाओं का प्रयोग किया गया।

आर्मिन लाशेट (Armin Laschet) सीडीयू के नए अध्यक्ष बने

  • जर्मनी (Germany) में आर्मिन लाशेट (Armin Laschet) सत्ताधारी पार्टी क्रिश्चियन डेमोक्रेटिक यूनियन (Christian Democratic Union) के अध्यक्ष चुन लिए गए हैं।
  • सीडीयू के वर्चुअल सम्मेलन में उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी फ्रेडरिक मैर्त्स को 466 के मुकाबले 521 वोटों से हराया।
  • तीसरे उम्मीदवार और पार्टी प्रवक्ता नॉर्बर्ट रोएटगेन पहले ही चरण में ही दौड़ से बाहर हो गए थे।
  • लाशेट 2017 से जर्मनी के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया के मुख्यमंत्री (Chief Minister) हैं।
  • वे देश की चांसलर अंगेला मर्केल (Angela Merkel) की मध्यमार्गी नीति के समर्थक हैं।

टी20 में 5 विकेट लेने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने सांता

  • पुडुचेरी के सांता मूर्ति (Santa Murti) ने 17 जनवरी 2021 को टी20 (T20) क्रिकेट में इतिहास रच दिया है।
  • Santa Murti टी20 क्रिकेट के किसी एक मैच में 5 विकेट लेने वाले सबसे उम्रदराज गेंदबाज बन गए है।
  • सांता मूर्ति ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में पुडुचेरी की ओर से खेलते हुए मुंबई की टीम के खिलाफ यह रिकॉर्ड बनाया।
  • 41 साल 129 दिन के सांता ने मुंबई के खिलाफ 20 रन देकर 5 विकेट लिए।
  • उन्होंने कैरेबियाई बॉलर केनुटे तुलोच का 15 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा। तुलोच ने 41 साल 7 दिन में ऐसा किया था।

महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान (Ustad Ghulam Mustafa Khan) का निधन

  • महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार और पद्म विभूषण से सम्मानित उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान (Ustad Ghulam Mustafa Khan) का 17 जनवरी 2021 को उनके आवास पर निधन हो गया।
  • वह 89 वर्ष के थे। खान को 2019 में ब्रेन स्ट्रोक हुआ था और उनके शरीर का बायां हिस्सा लकवाग्रस्त हो गया था।
  • Ghulam Mustafa Khan का जन्म 3 मार्च 1931 को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बदायूं में हुआ था।
  • Ghulam Mustafa Khan को 1991 में पद्म श्री, 2006 में पद्म भूषण और 2018 में पद्म विभूषण से नवाजा गया था।
  • Mustafa को 2003 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

कुछ अन्‍य महत्‍वपूर्ण करंट अफेयर्स

  • केंद्रीय शिक्षा मंत्री को कनाडा के हिंदी राइटर्स गिल्ड (Hindi Writers Guild) ने सम्मानित किया: सुप्रसिद्ध साहित्यकार एवं भारत के शिक्षामंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank) को उनके उत्कृष्ट लेखन और साहित्य के लिए हिंदी राइटर्स गिल्ड (Hindi Writers Guild) कनाडा ने अंतरराष्‍ट्रीय सम्मान कनाडा साहित्य गौरव (Canada Sahitya Gaurav) से सम्मानित किया गया है।

Leave a Reply